होली खेलन आवे बिरज रसिया भजन लिरिक्स

होली खेलन आवे बिरज रसिया,
बिरज रसिया रे बिरज रसिया,
होरी खेलन आवे बिरज रसिया।।

⇒ होली के समस्त भजन यहाँ देखें।



हाथ लिए कंचन पिचकारी,

हाथ लिए कंचन पिचकारी,
अबीर गुलाल भरे झोलियाँ,
होरी खेलन आवे बिरज रसिया।।



कंचन कुंवर हमें मन भावे,

कंचन कुंवर हमें मन भावे,
ऐ दोऊ मोरे मन बसिया,
होरी खेलन आवे बिरज रसिया।।



होली खेलन आवे बिरज रसिया,

बिरज रसिया रे बिरज रसिया,
होरी खेलन आवे बिरज रसिया।।

स्वर – प. पवन तिवारी।


You May Also Like  दिल जो लगाया तुमसे कन्हैया भजन लिरिक्स
close