हुई गलियों में जय जयकार आया गणपति तेरा त्यौहार भजन लिरिक्स

हुई गलियों में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।

तर्ज – मनिहारी का भेष बनाया।


नाची मन में उमंग,
भरा खुशियों ने रंग,
नाची मन में उमंग,
भरा खुशियों ने रंग,
गूंजी गणपति तेरी जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार,
हुई गलियों में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।


ऊँचा आसान सजाएं,
तुम्हे घर में बिठाएं,
ऊँचा आसान सजाएं,
तुम्हे घर में बिठाएं,
तेरे चरणों में है संसार,
आया गणपति तेरा त्यौहार,
हुई गलियों में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।


शिव फुले ना समाये,
गौरा वारि वारि जाए,
शिव फुले ना समाये,
गौरा वारि वारि जाए,
आए जग के पालनहार,
आया गणपति तेरा त्यौहार,
हुई गलियो में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।


शंख अंकुश लिए आए,
कमल पाश लिए आए,
शंख अंकुश लिए आए,
कमल पाश लिए आए,
आये मूषक पे होके सवार,
आया गणपति तेरा त्यौहार,
हुई गलियो में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।


मनसा पूरी करो,
सबकी झोली भरो,
मनसा पूरी करो,
सबकी झोली भरो,
सारे जग के तुम करतार,
आया गणपति तेरा त्यौहार,
हुई गलियों में जय जयकार,
आया गणपति तेरा त्यौहार।।


You May Also Like  सांवरिया अपने भक्तो को तुम भी क्या यूँ रुलाओगे लिरिक्स
close