राम कहने से तर जाएगा पार भव से उतर जायेगा भजन लिरिक्स

राम कहने से तर जाएगा,
पार भव से उतर जायेगा।।



उस गली होगी चर्चा तेरी,
उस गली होगी चर्चा तेरी,
जिस गली से गुजर जायेगा,
राम कहने से तर जाएगा।।



बड़ी मुश्किल से नर तन मिला,
बड़ी मुश्किल से नर तन मिला,
कल ना जाने किधर जाएगा,
राम कहने से तर जाएगा।।



अपना दामन तो फैला ज़रा,
अपना दामन तो फैला ज़रा,
कोई दातार भर जाएगा,
राम कहने से तर जाएगा।।



सब कहेंगे कहानी तेरी,
सब कहेंगे कहानी तेरी,
जब इधर से उधर जाएगा,
राम कहने से तर जाएगा।।



याद आएगी चेतन तेरी,
याद आएगी चेतन तेरी,
काम ऐसा जो कर जाएगा,
राम कहने से तर जाएगा।।



राम कहने से तर जाएगा,
कल ना जाने किधर जाएगा,
जिस गली से गुजर जायेगा,
पार भव से उतर जायेगा।। 


You May Also Like  हे त्रिपुरारी हे गंगाधारी भोले शंकर भजन लिरिक्स
close